अलॉयसियस में रहकर करेंगे ऐसा काम  .....2

दुनिया भी एक दिन हमको करेगी सलाम .....2

कॉलेज के संरक्षक, संत  अलॉयसियस ने दिया पैगाम

कमल किताब उड़ता हुआ बाज दीपक है प्रतिमान

भरके उड़ान हौसलो की ज्ञान , प्रकाश ईमान .....2

हर अलॉयसिअन जग में खिलता है , कमल के समान 

दुनिया भी एक दिन हमको करेगी सलाम .....2

चलके अपने दम पर लेकर उसका नाम 

नामुमकिन को मुमकिन करके लेंगे हम आराम 

मंजिल भी खुद झूमेगी ऐसा करेंगे काम .....2

ज्ञान विज्ञानं कला - साहित्य का हमको , पाठ पढ़ाया  

प्रेरणा की चिंगारी फूंकी राज पथ तक पहुंचाया .....2

संस्कारो की सरिता बहती यहाँ आठों याम

कॉलेज के दर्पण में प्राध्यापकों की हर तस्वीर 

श्रम कराये इतना बदले हमारी तकदीर 

दिव्यांगों को ख़ुशी से लेता रखता उसका ध्यान .....2

समदृष्टि से देखे सबको मानवता का देता पैगाम 

अलॉयसियस में रहकर करेंगे ऐसा काम .....2

दुनिया भी एक दिन हमको करेगी सलाम                                                                  

                                                                                                                                                                                  DOWNLOAD

Back to Top